Latest News

कोतवाली ज्वालापुर पुलिस द्वाला गिरफ्तार किये गये फिरौती के अभियुक्तगण


ज्वालापुर पुलिस द्वारा दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, हिमाचल, बिजनौर में दबिशें दी गयी। मुख्य अभियुक्त प्रदीप कुमार को जब यह जानकारी हुयी कि वादी द्वारा पुलिस को रंगदारी माॅगने के सम्बन्ध में रिपोर्ट दर्ज करा दी गयी है तो वह बोखला गया और अपनी आपराधिक साख बचाने व वादी को सबक सिखाने के उद्देश्य से वह दिनांक 04.08.2022 को वादी के शोरूम बन्द करने के बाद उसे ठिकाने लगाने की नियत से अपने साथियों के साथ हरिद्वार आ रहा था कि इसी दौरान पुलिस को इसकी सूचना मिल गयी। और रानीपुर झाल के पास से प्रदीप कुमार व उसके साथियों को घटना में संलिप्त कार व अस्लाहों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

ज्वालापुर 27.07.2022 को वादी निपुण मित्तल पुत्र नवीन चन्द्र नि0 मयूर बिहार आर्य नगर जवालापुर हरिद्वार द्वारा थाना ज्वालापुर पर तहरीर प्रस्तुत की कि दिनांक 26.07.2022 को रात्रि जब वह अपने ज्वैलर्री शोरूम मोरातारा से अपने घर स्कूटी से जा रहा था तो थोडी दूरी पर उसे दो युवकों द्वारा स्कूटी में तेजी से ओवर टेक किया गया व उसे अपने उपर फायर होना महसूस हुआ। उस समय उसने स्कूटी रोककर देखा सब कुछ सलामत होने पर कावडियों द्वारा साईलेन्सर से आवाज करना मानकर वह घर चला गया। रात को उसने अपना लैपटाप जो कि स्कूटी पर पैरों के बीच रखा था खोलकर देखा तो उसमें एक स्थान पर छेद के कारण लैपटाप टुटना पाया गया। अगले दिन दोपहर में उसने लैपटाप को मैकनिक को दिखाया तो मैकनिक द्वारा लैपटाप के अन्दर से .32 बोर की बुलेट निकालने पर उसे अपने उपर अज्ञात व्यक्ति द्वारा जानलेवा हमला करने का अहसास हुआ। तहरीर के आधार पर कोतवाली ज्वालापुर में मु0अ0सं0 415/22 धारा 307 भादवि पंजीकृत कर अभियोग की विवेचना प्रारम्भ की गयी। इसी बीच वादी को दिनांक 27.07.2022 को उसके मोबाईल फोन पर कुख्यात अपराधी सुनील राठी के नाम पर 50 लाख रूपये फिरोती की मांग करने व बार-2 फोन कर धमकाने व उन्हीं के द्वारा उसपर फायरिंग करवाने की बात से मामले की संवेदनशीलता अत्यधिक बढ गयी। विगत वर्ष वादी के शोरूम मोरातारा में हुयी डकैती की घटना की संवेदनशीलता को देखते हुये पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय हरिद्वार के निर्देशन व पुलिस अधीक्षक नगर हरिद्वार व सहा0पु0अ0 ज्वालापुर व क्षेत्राधिकारी ऑपरेशन के पर्यवेक्षण में घटना के अनावरण हेतु चार टीमों का गठन किया गया। ज्वालापुर पुलिस द्वारा दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, हिमाचल, बिजनौर में दबिशें दी गयी। मुख्य अभियुक्त प्रदीप कुमार को जब यह जानकारी हुयी कि वादी द्वारा पुलिस को रंगदारी माॅगने के सम्बन्ध में रिपोर्ट दर्ज करा दी गयी है तो वह बोखला गया और अपनी आपराधिक साख बचाने व वादी को सबक सिखाने के उद्देश्य से वह दिनांक 04.08.2022 को वादी के शोरूम बन्द करने के बाद उसे ठिकाने लगाने की नियत से अपने साथियों के साथ हरिद्वार आ रहा था कि इसी दौरान पुलिस को इसकी सूचना मिल गयी। और रानीपुर झाल के पास से प्रदीप कुमार व उसके साथियों को घटना में संलिप्त कार व अस्लाहों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

allnewsbharat.com

Related Post